Mann Ki Awaaz Pratigya 2 23rd June 2021 Written Update:Pratigya asks Krishna to help her find the kids

सुमित्रा बच्चों को खाने के लिए बुलाती है पर कोई बच्चा आता नहीं. कृति और गर्व दोनों में से कोई भी नहीं आता यह देखकर केसर कहती है कि वह देखेगी वह जाकर देखती है कि दोनों में से एक भी नहीं है घर पर.

सुमित्रा को समझ में नहीं आता वह कहने लगती है प्रतिज्ञा ने बच्चों को लेकर बाहर गई थी खेलने के लिए. कृष्णा घर आते हैं तो सभी बताते हैं कि बच्चों को नहीं पाया जा रहा है. तभी प्रतिज्ञा आती है और कहती है कि कुछ गुंडों ने मिलकर उन लोगों के ऊपर हमला किया था और बच्चों को लेकर गए थे.

यह सब बातें सुनकर रोने लगती है सुमित्रा और कुछ समझ में नहीं आता किसी को कृष्णा को प्रतिज्ञा कहने लगती है कि वह लोग बाहर गए थे खेलने के लिए पर कुछ गुंडे आए और गाड़ी रुक आने के बाद बच्चों को किडनैप करके ले गए. यह बात सुनकर बहुत गुस्सा आया कृष्णा को वह पूछने लगा कि क्यों वह लेकर गई थी बच्चों को बाहर.

प्रतिज्ञा कहने लगी कि सुमित्रा नहीं उनको इजाजत दी थी बच्चों को बाहर ले जाने के लिए सुमित्रा कहने लगी कि वह झूठ कह रही है और कस के थप्पड़ मारती है प्रतिज्ञा को प्रतिज्ञा कहने लगती है कि वह जितना थप्पड़ मारेगी सब खाने को तैयार है पर उनको बच्चों को पहले बचाना चाहिए.

सज्जन सिंह कहने लगते हैं कि इसीलिए उन्होंने कहा था प्रतिज्ञा को उस घर में नहीं रहने के लिए क्योंकि शायद से वही गुंडे है जो कि बच्चों को किडनैप किया हे. कृष्णा प्रतिज्ञा को बाहर लेकर जाते हैं और पूछने लगते हैं कि कहां रखी है उन्होंने बच्चों को प्रतिज्ञा विनती करने लगती है कि उनको कुछ नहीं पता है. पर यह सब बातों पर विश्वास नहीं करते हैं कृष्णा.

बाद में प्रतिज्ञा कहने लगती है कि वह बच्चे और किसी के नहीं बल्कि उनके ही है कृष्णा को गुस्सा आता है और वह सोचते हैं कि प्रतिज्ञा को उस घर में रखना चाहिए जिस घर में वह सभी अपने शत्रुओं को रखते हैं. उधर गुंडे कॉल करते हैं सज्जन सिंह और कहने लगते हैं कि इस बार उन्होंने सबका सही से किया है.

उधर बच्चे डर जाते हैं यह सब गुंडों के बातें से, और मंत्र जप करने लगते हैं जो की प्रतिज्ञा ने उन लोगों को सिखाया था. गुंडे सोचने लगते हैं कि सज्जन सिंह कैसा आदमी है खुद ही अपने पोता पोती को पहले कितना करवाया और अब बोल रहा है कि उनको हाथ तक नहीं लगाना चाहिए.

केसर सपोर्ट करती है प्रतिज्ञा को पर कृष्णा उनके कोई बात भी नहीं सुनते और कहते हैं कि वह क्यों आ रहे हैं उनके निजी मामले में उधर आदर्श और कोमल आ जाते हैं घर पर और देखते हैं कि कोई नहीं है जब उनको एक आवाज सुनाई देता है और वह जाते हैं उधर.

उधर जाकर वह देखते हैं कि कृष्णा जबरदस्ती प्रतिज्ञा को एक अंधेरे कमरे में घुसाने की कोशिश कर रहे हैं जिसमें सब अपराधी को रखा जाता है पर वह समझ नहीं पाते कि ऐसा क्यों किया जा रहा है तो वह पूछते हैं कृष्णा बताते हैं कि प्रतिज्ञा ने उन दोनों बच्चों को किडनैप किया है और अब नहीं बता रही है कि कहां रखी है उन्होंने प्रतिज्ञा विनती करती है और कहने लगती है कि उन्होंने कुछ भी नहीं किया है.

सज्जन सिंह कहते हैं आदर्श को मदद करने के लिए ताकि कृष्णा गुस्सा सके प्रतिज्ञा को उस अंधेरे घर में.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.